-->

Finalank.live India की सबसे Popular Site है जो सबसे Fast Final Ank, Final Matka और Kalyan Final Ank उपलब्ध करवाती है इसके साथ ही Chart Record, Tips & Tricks भी उपलब्ध करवाती है. तो दोस्त फालतू की Research में अपना समय बर्बाद मत करो और सही समय पे सही जानकारी पाने के लिए इस Website को याद कर लो और रोज Visit करते रहो.


👉Final Ank👈


What is "ATM" (Full Essay) in Hindi - एटीएम क्या होता है?

बैंक और इससे सम्बद्ध सभी संस्थाओ का प्रमुख कार्य है- जो राशी आवंटित की गयी है उस पर ब्याज लेना साथ ही अपने ग्राहकों की जमा राशी पर उन्हें ब्याज जोड़कर वापस देना. 1969 में जब सभी बैंक राष्ट्रीयकरण के दायरे में आ गए तो बैंकिंग में भी व्यक्तिगत और सामाजिक रूप से परिवर्तन आये. इसमें बैंक अपने संसाधनो का प्रयोग प्राथमिक स्तर पर व्यक्तिगत और सामाजिक विकास के अनुसार करने लगे. यह बैंकिग प्रणाली लगभग दो दशक तक सामान्य रूप से चली. फिर उदारीकरण आ जाने से बैंकिग के क्षेत्र में नए दौर का युग आया जिससे आर्थिक स्थिरता अत्यधिक और अधिक मजबूत हुई. 

अन्य बैंक से लगातार बढ़ती प्रतिस्पर्धा के बीच इन्हें कई नई योजनाओ को भी समावेशित करना पड़ा. यह परिवर्तन भौतिकवादी और उपभोक्तावादी दोनों रूप में आया था. बैंक के कार्य में पारदर्शिता ,संतोष दायक कार्य-प्रणाली और त्वरित परिणाम के लिए लघभग हर शाखा को कंप्यूटर से युक्त कर दिया गया. ग्रामीण क्षेत्रो में भी यह परिवर्तन आया और वहा भी ग्राहक से बेहतर कार्य-व्यवहार को प्राथमिकता दी जाने लगी है. रिटेल बैंकिंग एक ऐसी व्यवस्था है जो ग्राहक की आवश्यकताओ और प्राथमिकताओ के अनुसार विकसित की गयी है और इसी से सम्बन्धित एक शब्द है- ATM.

ATM का सामान्य परिचय:-

ATM को सामान्य शब्दों में ऑटोमेटेड टेलर मशीन कहा जाता है ! 1939 में सर्वप्रथम LUTHER JEORJE SIMJAN ने अपना यह आविष्कार बाज़ार में उतरा किन्तु वे इसमें पूरी तरह सफल नहीं थे ! बाद में DON WETGEL ने 1968 में इसका सफल और संशोधित रूप बनाया ! ऐसा कहा जाता है की प्रथम ATM मशीन न्यूयार्क के केमिकल बैंक RACKVILEY CENTER में लगाईं गयी ! उस समय इसकी मशीन को दीवार में स्थायी किया जाता था ! यह मशीन नकदी तो तुरंत उपलब्ध करा देती थी किन्तु इसे खाते का नामान्तरण करने में समय लगता था और उसका कारण भी स्पष्ट था की ATM का उसकी शाखा के कंप्यूटर से कोई सम्बन्ध नहीं हुआ करता था.

ATM का वर्तमान स्वरूप और कार्यप्रणाली:-

आज का ATM अपने ग्राहक की शाखा तथा उसके कंप्यूटर से पूरी तरह से जुडा हुआ है ! यह हफ्ते के सातो दिन और चौबीसों घंटे काम करता रहता है ! वह अपने उपभोक्ता को अपने खाते की जमा-निकासी की सुविधा तुरंत मोबाइल पर सन्देश के द्वारा पंहुचा देता है और इस सेवा के शुल्क के रूप में अपने बैंक के लिए धन का अर्जन भी कर रहा है ! इसके कुशल संचालन के लिए ग्राहक को अपनी शाखा से गोपनीय PIN-PERSONAL IDENTY NUMBER दिया जाता है ! लेन-देन से सम्बन्धित काम के अतिरिक्त यह कई अन्य महत्वपूर्ण काम जैसे पासवर्ड बदलना, मोबाइल का पंजीकरण, चेक जमा करना, किसी योजना का क्रियान्वयन आदि OTP कोड के माध्यम से आसानी से कर रहा है ! कई आधुनिक एटीएम मशीन से तो धन का स्थानान्तरण भी कुशलता से किया जा रहा है ! वह अपने खाते का बचा हुआ बैलेंस बताने उसका अपडेट स्टेटमेंट दिखने में भी सक्षम हो गया है ! एटीएम का मास्टर इंटरनेशनल कार्ड तो दुनिया के किसी भी देश में मान्य है ! बल्कि आज के एटीएम तो अन्य सभी बैंक के एटीएम कार्ड भी स्वीकार करने लगे है ! कुछ अतिरिक्त राशी का भुगतान कर किसी अन्य बैंक के उपभोक्ता को भी वो सभी सेवाएँ प्रदान कर दी जाती है जो दूरस्थ होता है या वह तक किसी कारणवश पहुच पाने में असमर्थ है.

ATM के लाभ:-

एटीएम कार्ड और उसका प्रयोग आज के हर बैंक ग्राहक की मुख्य आवश्यकता बन गया है ! अपने कार्ड और नेट बैंकिंग के माध्यम से आज का उपभोक्ता घर बैठे ही अपने मोबाइल पर इन्टरनेट के प्रयोग से सभी सेवाओ का उचित उपयोग कर लेता है, किसी भी प्रकार का सरकारी बिल हो या किसी सेवा का भुगतान वह यथास्थान से ही सभी कार्य आसानी से कर लेने में सक्षम है ! यही कारण है की आज लगभग सभी बड़े कार्यालयों, पेट्रोल पंप, एयरपोर्ट, होटल आदि के बाहर अत्यधिक मात्रा में ATM लगाए जा रहे है ! एटीएम ने न केवल बैंक के कर्मचारियों का भार कम करते हुए इनके कार्यालयों से उपभोक्ता की भीड़ को हटाया है बल्कि कई आवश्यक सेवाओ से इनके उपभोक्ता के समय और श्रम को भी बचाया है.

उपसंहार:-

इस प्रकार कहा जा सकता है की पिछले एक हज़ार वर्षो के मुकाबले बीसवी सदी में जो सुचना क्रान्ति का उदय हुआ है वह अत्यंत प्रभावशाली है ! समय के साथ-साथ तकनीक के होने वाले परिवर्तनों में सुचना और प्रोधोगिकी का तीव्र विकास हुआ है ! आधुनिक सभ्यता के आसान जीवन में कंप्यूटर की प्रणाली से संचालित एटीएम की सेवा तीव्रता से इसके उज्जवल भविष्य की और अग्रसर है ! इन सबकी वजह से ही ATM जैसी सेवाएँ और इनका व्यापक प्रयोग आज की हमारी परम आवश्यकता बन गयी है.


चेतवानी (Warning)

यह Website सिर्फ और सिर्फ Entertainment के उद्देश्य से बनाई है. यहाँ पर दिए गए सभी Number और जानकारी Internet से ही ली गई है. हम Satta से जुडी किसी भी गतिविधि को बढ़ावा नहीं देते है और न हमारा इससे कोई लेनादेना है. वैसे तो इस Site के द्वारा किसी प्रकार की लेनदेन नहीं होती फिर भी किसी भी लाभ या हानि के लिए आप खुद ज़िम्मेदार होंगे. किसी भी तरह की Query के लिए हमें Mail करें: computertipsguru@gmail.com