-->

Finalank.live India की सबसे Popular Site है जो सबसे Fast Final Ank, Final Matka और Kalyan Final Ank उपलब्ध करवाती है इसके साथ ही Chart Record, Tips & Tricks भी उपलब्ध करवाती है. तो दोस्त फालतू की Research में अपना समय बर्बाद मत करो और सही समय पे सही जानकारी पाने के लिए इस Website को याद कर लो और रोज Visit करते रहो.


��Final Ank��


Mission "Chandrayaan 1" essay in hindi - चंद्रयान अभियान?

मानव रहित अपने पहले चंद्रयान का सफल प्रक्षेपण कर भारत ने अपनी गिनती अन्तरिक्ष जगत के कुछ चुनिन्दा देशो के नाम में करवा दी है ! 22 अगस्त 2008 को हमारी उपलब्धियों में एक और कड़ी जुडी तथा भारत की चंद्रमा पर पहुचने की यह कोशिश सफल रही ! इस मामले में भारत का स्थान भले ही छठा हो पर इसने इस अभियान से जुडी हुई सारी गणनाओं के सफल क्रियान्वयन से उम्मीद की एक और किरण जगा दी ! रूस और अमेरिका ने जो काम बीसवी शताब्दी में किया था उस और उठाया गया हमारा यह कदम भविष्य में मील का पत्थर ही साबित होगा ! 22 अक्टूबर 2008, बुधवार, को श्री हरिकोटा का सतीश धवन केंद्र में अन्तरिक्ष केंद्र के प्रमोचन पेड़ पर भेजे जाने वाला मानव रहित चंद्रयान अपनी पहली परीक्षा का इंतज़ार कर रहा था.

Mission का सफल क्रियान्वयन:-

देश के वैज्ञानिको ने इस ऐतिहासिक पल को यादगार बनाने की पूर्ण तैयारी पहले ही कर ली थी ! निर्धारित समय छ: बजकर बाईस मिनट पर जैसे ही pslv c-11 राकेट अपने निर्धारित स्थान के लिए रवाना हुआ वैज्ञानिको का कलेजा धक्-धक् कर उठा किन्तु आकाश में सामान्य बादल वाले मौसम में जैसे ही यान 18.2 मिनट में प्रथ्वी के केंद्र की कक्षा में पंहुचा तो सभी की बाहें खिल गयी ! यह अन्तरिक्ष में भारत का इतिहास रचने वाला दिन था ! हर भारतीय का मन इस अपूर्व सफलता से प्रसन्न हो उठा और इस mission के सूत्रधार भारतीय अन्तरिक्ष अनुसन्धान संगठन (isro) के प्रमुख जी. माधवन नायर ने ख़ुशी व्यक्त करते हुए कहा की ‘ आज के ऐतिहासिक दिन से भारत की चन्द्र-यात्रा की शरुआत हो चुकी है है और इस और हमारा पहला कदम बिलकुल सही व सटीक पड़ा है !’ देश की तत्कालीन राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने भी देश के वैज्ञानिको को बधाई देते हुए कहा की ‘आने वाले अनुसंधानों के लिए यह अभियान मील का पत्थर साबित होगा.

प्रधान मंत्री डा. मनमोहन सिंह ने कहा की’ आज के इस ऐतिहासिक प्रेक्षपण से भारत के चन्द्र अभियान की शुरुआत कर दी है ! डा. कलाम ने ख़ुशी व्यक्त करते हुए कहा की-‘ हमारा पहला कदम इस दिशा में सटीक पड़ा उम्मीद करता हु आगे भी हम सही दिशा में आगे बढ़ेंगे ‘! उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने कहा की ‘ isro की यह उपलब्धि हम सबको गर्व महसूस कराती है ‘!इस mission की सफलता में एक हज़ार भारतीय वैज्ञानिको की जी-तोड़ मेहनत थी ! इसी क्रम में भारत की और से दूसरा चंद्रयान भी 2010 से 2012 के बीच भेजा जाना प्रस्तावित है ! 2014 में एक अन्तरिक्ष यात्री को भी भेजे जाने का isro ने निश्चय किया है, जिसकी सीमा बढ़ाकर 2020 तक हो सकती है ! इसके बाद भारत ने अगले प्रोजेक्ट सूरज की भी तैयारी शुरू कर दी है और ‘आदित्य ‘ नाम के एक यान को सूर्य की बाहरी कक्षा ‘केरोनो’ के शोध के लिए तैयार किया जा रहा है.

अभियान से होने वाले लाभ:-

चन्द्रयान से भारत कई राष्ट्रीय हित परोक्ष और अपरोक्ष रूप से जुड़े हुए है ! जैसे की चन्द्रमा पर आसानी से उपलब्ध हीलियम-३ भविष्य में हमारी उर्जा प्राप्ति का विकल्प भी बन सकता है ! हीलियम नाभिकीय संयंत्र का मुख्य ईधन है ! आज की वव्साय के क्षेत्र में इतनी अधिक मांग नहीं है किन्तु वैगेनिको का अनुमान है की यह भविष्य में कीमती साबित हो सकता है ! चंद्रमा पर मोजूद हीलियम की उपलब्धता इतनी है की वह आठ हज़ार साल तक पूरी दुनिया की उर्जा की पूर्ति कर सकता है ! इस प्रकार दो साल तक यह हमारे लिए कई प्रकार की उपयोगी जानकारी चाँद पर रहकर ही जुटाएगा ! बेंगुलुर स्थित पीन्या के वैज्ञानिक इस पर नियंत्रण रखेंगे और सूचनाओ का संग्रह करेंगे ! अगले दो सालो तक यह प्रथ्वी के इस सबसे प्रिय उपग्रह चंद्रमा के रहस्यों को हम तक पहुचता रहेगा.

अन्य विदेशी अभियान:-

सोवियत संघ ने 12 सितम्बर, 1959 को लूना-ii को चाँद पर पहुचाया था !1) अमेरिका ने 1961-1972 के बीच छ: spacekraft चन्द्रमा पर भेजे.
2) जापान ने भी 2007 में कायुगा नामक यान चन्द्र mission पर भेजा.
3) चीन ने भी इसी वर्ष 2007 में चेंगे-i को इस यात्रा पर भेजा.

उपसंहार:-

इस अभियान का सफल कदम भारत की अन्तरिक्ष में एक बड़ी छलांग है ! अपने पहले ही प्रयास में सफल होने से भारत की वर्चस्व इसके समक्ष राष्ट्रों में और भी ज्यादा बढ़ गया है ! और यह भी अच्छी बात रही की भारत ने अन्य राष्ट्रों के मुकाबले इसे कम से कम लागत में प्राप्त किया साथ ही वैज्ञानिको ने यह सन्देश भी दे दिया है की वे अन्तरिक्ष की हर चुनौती का सामना करने में सक्षम है ! साथ ही हम ये सीख भी दे सके की कार्य को कर्मठता से किया जाये तो हम कही भी सफलता का परचम पहरा सकते है.


चेतवानी (Warning)

यह Website सिर्फ और सिर्फ Entertainment के उद्देश्य से बनाई है. यहाँ पर दिए गए सभी Number और जानकारी Internet से ही ली गई है. हम Satta से जुडी किसी भी गतिविधि को बढ़ावा नहीं देते है और न हमारा इससे कोई लेनादेना है. वैसे तो इस Site के द्वारा किसी प्रकार की लेनदेन नहीं होती फिर भी किसी भी लाभ या हानि के लिए आप खुद ज़िम्मेदार होंगे. किसी भी तरह की Query के लिए हमें Mail करें: computertipsguru@gmail.com